बच्चों की तस्करी मामले में BJP नेता जूही चौधरी गिरफ्तार – पश्चिम बंगाल

0
647

पश्चिम बंगाल – सिलिगुड़ी। भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों के विधानसभा चुनावों में स्वच्छ और पाक सरकार बनाने का दावा कर रही है। लेकिन इसी बीच के बीजेपी के लिए बुरी खबर आई है। दरअसल बाल तस्करी के मामले में नेपाल बॉर्डर से बीजेपी नेता जूही चौधरी को गिरफ्तार किया गया है।
भारतीय जनता पार्टी की वुमेन विंग की नेता जूही चौधरी को CID ने चाइल्ड ट्रैफिकिंग के एक मामले में गिरफ्तार किया है। चाइल्ड ट्रैफिकिंग का ये मामला जलपाईगुड़ी का है। जूही के खिलाफ जलपाईगुड़ी के कोतवाली पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज कराई गई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बच्चों के अवैध व्यापार के मामले में चौधरी के साथ कुल चार लोगों की गिरफ्तारी हुई है। पिछले कुछ महीनों में एक गैर सरकारी संगठन बिमला शिशु गृहों से भारत के बाहर और विदेशी दंपत्तियों को बच्चों के अवैध व्यापार में उन लोगों की कथित संलिप्तता को लेकर यह गिरफ्तारी हुई है।

आखिर क्या है पूरा मामला ?

‘चाइल्ड ट्रैफिकिंग के इस मामले का खुलासा पिछले साल नवंबर में हुआ था. उस दौरान पुलिस ने पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में छापा मारा था. इस छापेमारी में कुछ मकानों से बच्चों की बरामदगी हुई थी. जांच के दौरान पुलिस को कुछ लोगों के नाम पता चले थे. इसमें से एक नाम जूही चौधरी का भी था. इस मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने भी जूही चौधरी का नाम लिया था. जिसके बाद जूही चौधरी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

कहा जा रहा है
कहा जा रहा है की बात ये है कि पश्चिम बंगाल में पहले जो लड़ाई टीएमसी और लेफ्ट फ्रंट के बीच हुआ करती थी, वो अब टीएमसी और बीजेपी के बीच सिमट चुकी है. इसलिए बीजेपी को लग रहा है कि टीएमसी के इशारे पर ही बच्चों की तस्करी के रैकेट में बीजेपी के बड़े नेताओं का नाम ज़बरन घसीटा जा रहा है. वैसे पश्चिम बंगाल पुलिस की सीआईडी के पास बीजेपी महिला मोर्चा की अध्यक्ष रूपा गांगुली और बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ कोई सबूत नहीं है. सिर्फ एक आरोपी ने इन दोनों का नाम लिया है और वो भी ये कहते हुए कि उसने सुना था कि मामले की दूसरी आरोपी जूही चौधरी ने रूपा गांगुली और विजयवर्गीय से मदद मांगी थी.
साजिश की तहत एक के बाद एक हमारी पार्टी के नेताओं को गलत तरीके से फंसाया और गिरफ्तार किया जा रहा है। हमें इस बंगाल सरकार व पुलिस पर भरोसा नहीं है।
विजयवर्गीय ने कहा, “वे किसी भी हद तक जा सकते है। हम इस मामले की केंद्रीय एजेंसी से जांच कराना चाहते हैं।”
विजयवर्गीय ने जोर देकर कहा कि यदि पार्टी का कोई किसी भी सदस्य रैकेट में शामिल पाया गया तो पार्टी कार्रवाई करेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here