नसीमुद्दीन सिद्दीकी को किया किनारे

0
406

उत्तर प्रदेश से बाहर कर उन्हें भेजा मध्य प्रदेश लखनऊ। लगातार तीन बड़ी हार के बाद आखिरकार बसपा सुप्रीमो मायावती ने बड़ीकार्रवाई करते हुए बसपा के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी को उनसे सभी पद छीन लिए हैं। नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर बड़ीकार्रवाई करते हुए मायावती ने ना सिर्फ उनसे सभी पद छीने हैं बल्कि उन्हें उत्तर प्रदेश से ही बाहर कर दिया। सिद्दीकी को अब मध्यप्रदेश का प्रभारी बनाकर भेजा गया है। नसीमुद्दीन सिद्दीकी के कद को छोटा करते हुए मायावती ने उन्हें कई कमेटियों से बाहर कर दियाहै, उनकी जगह मुकनकाद को मेन बॉडी कोऑर्डिनेटर बनाया गया है। सिद्दीकी अब उत्तर प्रदेश की बजाए मध्य प्रदेश में बसपा कोमजबूत करने का काम करेंगे। आपको बता दें कि मायावती ने इससे पहले यूपी और उत्तराखंड के नेताओं के संग बैठक की थी जिसमेंउन्होंने यह फैसला लिया था कि अब शहरी निकाय के चुनाव पार्टी के चुनाव चिन्ह पर लड़े जाएंगे।

नसीमुद्दीन सिद्दीकी को बसपा के मुस्लिम चेहरे के तौर पर जाना जाता है और वह विधानपरिषद में पार्टी के नेता भी रह चुके हैं, पश्चिमीउत्तर प्रदेश का सिद्दीकी को बड़ा नेता माना जाता है। इसके अलावा मायावती ने संगठन स्तर पर बड़ा बदलाव किया है, उन्होंने जिलासंगठन के अलावा मंडल व जोनल स्तर के कोऑर्डिनेटर औऱ विभिन्न स्तर पर भाईचारा कमेटियों को भंग कर दिया है। इन तमामसंगठनों को नए सिरे से खड़ा करने के लिए मायावती अपनी तैयारी कर रही हैं। गौरतलब है कि यूपी चुनाव में करारी हार के बादमायावती ने बड़े बदलाव के संकेत देते हुए पहले अपने भाई आनंद कुमार को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया था तो अब उन्होंनेनसीमुद्दीन सिद्दीकी को पार्टी से किनारे लगा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here