जानें नरेन्द्र मोदी की सफलता का राज़

0
488

जानें नरेन्द्र मोदी की सफलता का राज़

 

 

अपने कार्य पर गर्व करो:-
जी है मोदी जी करुणा, आध्यात्म, परस्पर प्रीति और जिज्ञासा जैसे संस्कार वाले नरेंद्र मोदी को जन्मजात ईश्वरीय वरदान के रूप में ही मिले हैं। इसीलिए हर चीज को देखने का उनका अलग दृष्टिकोण है। उनका यह दृष्टिकोण बुद्धिमत्ता से कहीं ऊपर संस्कार एवं संवेदना से परिचालित है। साथ ही उनमें हमें जीवन के उद्देश्य को पाने की जिज्ञासा तथा तड़प भी देखने को मिली है |

और नरेंद्र मोदी ने मॉ भारती के धरातल की सोंधी मिट्टी से बने और जुड़े़ व्यक्तित्व के धनी हैं। और उन्हें कभी यह बताने में शर्म महसूस नहीं होती है कि बचपन में उन्होंने रेलगाड़ी के डिब्बों में चाय बेचने का काम किया था |

बल्कि वो तो बड़े ही गर्व के साथ वे बचपन में अपने पिताजी और परिवार की किस तरह मदद करते थे यह बात जरुर बताते हैं। उनके अनुसार, वडनगर गायकवाड़ स्टेट के समय से व्यापार-उद्योग का काफी प्रमुख केंद्र रहा है।

त्वरित निर्णय क्षमता :-
मोदी की एक खूबी यह भी है कि वे तुरंत ही निर्णय लेने के लिए जाने जाते हैं। यह क्षमता  भारत के नेताओं में बहुत कम पायी जाती है और इस कारण से उन नेताओं से काफी अलग हैं |

Narendra Modi

असाधारण भाषण कला  :-
आपने तो देखा होगा, मोदी की सबसे बड़ी और असाधारण बात उनकी भाषण कि कला है और वे अपनी इस कला से  श्रोताओं को मंत्रमुग्ध करना भी जानते हैं। विकास और अन्य मुद्दों पर वे जितनी स्पष्टता और प्रभावी तरीके से अपनी बात को रखते है, को बिना किसी तैयारी उनका आशु भाषण भी लोगो को प्रभावित करता है |

modi speech today

जी है देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीवनी किसी कहानी से कम नहीं है। आज हर व्यक्ति को उनके बारे में जानने की स्वाभाविक इच्छा रहती है। वडनगर जैसे छोटे से नगर में जन्म और घर की आर्थिक स्थिति सामा न्य थी। वहीं के सरकारी प्राथमिक शाला में अध्ययन और युवावस्था आते आते गृहत्याग तथा पूरा जीवन मां भारती के चरणों में समर्पित।

इसीलिए नरेंद्र मोदी ने अपने परिश्रम और योग्यता के बलबूते पर सफलता हासिल की। व्यक्ति जन्म से नहीं कर्म से सफलता प्राप्त करता है और नरेंद्र मोदी ने अपना पूरा जीवन कर्म से गढ़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here