SC , ST एक्ट के संशोधन में पूरा बहुजन समाज हुआ एकत्रित – SC ST Act ke Sansodhan me Pura Bahujan Samaj hua Ekatrit

0
386

मोदी सरकार के sc , st एक्ट के संशोधन के खिलाफ दलितों ने अपना आक्रोश दिखाया जिसके तहत उन्होंने भारत बंद कर दिया है

देश का कोई दलित नागरिक नहीं चाहता है की संविधान में कोई संशोधन किया जाए उनका कहना है की सविंधान को बदलने की ताकत न तो कोई सरकार और न ही कोई सुप्रीम कोर्ट रखता है

सुप्रीम कोर्ट ने फैसला लिया है की अनुसूचित जाति जनजाति यानि sc , st एक्ट में तत्काल गिरफ्तारी के खिलाफ बहुजनो ने अपनी ताकत दिखाई है

sc , st एक्ट के बदलाव को लेकर मोदी सरकार और बहुजनो के बीच बीते कई दिनों से ताना तानी चल रही है जिसके चलते मोदी सरकार इस फैसले पर पुनर्विचार याचिका डाल रही थी

वही दलित संगठनों ने भारत बंद का आयोजन कर दिया है और इस बार भारत बंद के दौरान दलित संगठनों ने कानून के दायरे में रहकर अपना विरोध प्रदर्शित किया है

जिसके चलते भारत बंद को देखते हुए पंजाब व आदि जगह पर स्कूल , यातायात व्यवस्था और मोबाईल सर्विस पर भी रोक लगा दी गई है

सिर्फ इतना ही नहीं 10 वी और 12 वी के सीबीएसई बोर्ड के एग्जाम को भी रोक दिया गया है यह एग्जाम अब बाद में कराया जाएगा

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ सिर्फ दलित संगठन ही नहीं बल्कि कई राजनितिक पार्टिया सामने आई है

विपक्षी पार्टियां ही नहीं बल्कि BSP सरकार के कुछ नेता भी इस फैसले का विरोध कर रहे है और यही वजह है की मोदी सरकार इस फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर कर रही है

इस प्रदर्शन का असर भारत के कई राज्यों में नजर आ रहा है बिहार में कई जगहों पर रेल सेवाओं को रोक कर प्रदर्शन किया गया है

इसके अलावा राजस्थान , यूपी , गुजरात में भी प्रदर्शन किया गया है इस प्रदर्शन से पता चलता है की आज दलित कितना मजबूत है और इससे सरकार भी अपना फैसला बदलने को मजबूर है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here