5 साल में लम्बे लम्बे भाषणों का रिकार्ड बनाया मोदी ने

0
190

पिछले साल 15 अगस्त को अपना सबसे छोटा भाषण देने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 72 वे स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लालकिले की प्राचीर से 82 मिनट का भाषण दिया

उनका 15 अगस्त पर यह तीसरा सबसे बड़ा भाषण था मोदी ने ध्वजारोहण के बाद सुबह 7 बजे से 33 मिनट का सम्बोधन आरम्भ किया

8 बजकर 55 मिनट पर उनका भाषण पूरा हुआ प्रधानमंत्री मोदी जी ने पिछले साल यानी 2017 में स्वतंत्रता दिवस पर अपना सबसे छोटा भाषण दिया था तब उनका भाषण 54 मिनट का था

मोदी ने प्रधानमंत्री के रूप में 15 अगस्त 2014 को लाल किले की प्राचीर से पहली बार देश की जनता को सम्बोधित किया था

उस समय उन्होंने 65 मिनट का भाषण दिया था इसके बाद साल 2015 में उनका संबोधन 86 मिनट तक चला था और 2016 में उनका भाषण डेढ़ घंटे का था और अब 2018 का भाषण उनका 94 मिनट का था

तंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाल किले से दिये गये संबोधन को पूर्ण रूप से राजनीतिक शैली का चुनावी भाषण बताते हुए

बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को कहा कि इस लम्बे-चौड़े भाषण से सवा सौ करोड़ आबादी वाले देश को ना तो नयी ऊर्जा मिली और ना ही कोई नयी उम्मीद.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री देश की आम जनता को उसके जान-माल व मजहब की सुरक्षा की अति-महत्त्वपूर्ण संवैधानिक गारंटी का आश्वासन देना भी भूल गये जबकि यह आज देश की आवश्यकता नंबर वन बन गयी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here