3 .35 रुपया मजबूत हुआ 22 दिन में

0
187

रुपये को शुक्रवार को पंख लग गए. डॉलर के मुकाबले भारतीय मुद्रा में 5 साल में एक दिन की सबसे बड़ी मजबूती आई. यह 100 पैसे की मजबूती के साथ 72.45 के स्तर पर बंद हुआ.

इसकी वजह विदेशी बाजारों में कच्चे तेल की कीमतों में तेज गिरावट है. इसके अलावा अमेरिका ने संकेत दिया है कि वह ईरान पर प्रतिबंध के मामले में भारत को रियायत दे सकता है.

ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध लागू हो जाएंगे.शेयर बाजार में आई बड़ी तेजी का भी फायदा करेंसी मार्केट को मिला. विदेशी फंडों की नई खरीदारी ने भी रुपये को सहारा दिया.

पिछले दो दिन में रुपये में शानदार 150 पैसे की मजबूती आ चुकी है. गुरुवार को डॉलर के मुकाबले यह 50 पैसे की मजबूती के साथ बंद हुआ था.

विदेशी मुद्रा बाजार में को डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूती के साथ 73.14 के स्तर पर खुला. इसके बाद आई मजबूती से यह एक समय 102 पैसे चढ़कर 72.43 के स्तर तक चला गया. हालांकि, कारोबार खत्म होने पर यह 72.45 के स्तर पर बंद हुआ.

रुपये में आई मजबूती के कई कारण हैं. विदेशी बाजार में क्रूड ऑयल की कीमतें गिर रही हैं. इससे चालू खाता घाटा बढ़ने को लेकर चिंता घटी है.

उधर, बताया जाता है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत सहित कुछ देशों को ईरान पर प्रतिबंध के मामले में कुछ राहत देने के संकेत दिए हैं. वह इन देशों को ईरान से तेल खरीदने की इजाजत दे सकते हैं. इस खबर से भी रुपये को सहारा मिला है. ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध लागू हो जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here