लापरवाही करने वाले शिक्षकों के खिलाफ कड़े कदम उठाए जा रहे हैं।

0
402

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के प्राथमिक और जूनियर विद्यालयों में खंड शिक्षा अधिकारियों ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान बड़ेपैमाने पर शिक्षकों की लापरवाही सामने आई। जिसके चलते समीक्षा बैठक के बाद बुधवार देर शाम बीएसए ने  शिक्षक-शिक्षिकाओं कोतत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बेसिक शिक्षा अधिकारी डॉ. अमरकांत सिंह ने बताया कि बुनियादी शिक्षा के स्थानीयसत्यापन के लिए खंड शिक्षा अधिकारियों को एक साथ छापेमारी के निर्देश दिए गए थे। उसी के तहत चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आईहै। प्राथमिक विद्यालय रेवली चित्तौरा में प्रभारी प्रधानाचार्य शारदा जायसवाल व सहायक शिक्षिक अर्चना अग्रवाल अनुपस्थित मिलीं।छात्र संख्या काफी कम थी। इस पर उन्हें निलंबित कर दिया गया। इसके अलावा प्राथमिक विद्यालय भेटिया में सहायक शिक्षक विनोदअनुपस्थित मिले। अवकाश का प्रार्थना पत्र नहीं था। उनके खिलाफ भी निलंबन की कार्रवाई हुई। यही स्थिति प्राथमिक विद्यालयहड़हापुरवा में मिली। यहां प्रधान शिक्षिका इशरत जहां एक अप्रैल से अनुपस्थित पायी गयीं। प्राथमिक विद्यालय सुहेलनगर मेंप्रधानाध्यापिका रागिनी सिन्हा अनुपस्थित मिलीं। अवकाश चढ़ा नहीं था। उन्हें भी निलंबित कर दिया गया है। जूनियर विद्यालयसुहेलनगर में सहायक शिक्षिक अनीसा बानो, कालेपुरवा प्राथमिक विद्यालय की सहायक शिक्षिका रुमाना कुद्दूस, मुर्गिया की इंचार्जप्रधानाध्यापक रूमा बेगम, सहायक शिक्षक मोहम्मद इरशाद, जवाहिरपुरवा की इंचार्ज प्रधानाध्यापक वंदना सिंह, इंदिरापुर की सहायकशिक्षिका ऋतंभरा पांडेय, जूनियर विद्यालय की सहायक शिक्षिका आरती मिश्रा, प्राथमिक विद्यालय बनवारी की शिक्षिका रेशमा,करेहनावान गिरंट की प्रधान शिक्षिका जैनब बानो, खैराहसन के सहायक अध्यापक नीरज सिंह, जीनत खातून को निलंबित कर दियागया है। जबकि सुहापारा प्राथमिक विद्यालय सुबह 8.21 बजे बंद मिला। यहां पूरा स्टाफ निलंबित हुआ है। वहीं प्राथमिक विद्यालयविशुनपुर रहवा की प्रधान शिक्षिका मंजू पांडेय, प्रधानाध्यापक बीना कुमारी व गुंजा जायसवाल के अनुपस्थित मिलने पर उनके खिलाफभी निलंबन की कार्रवाई की गई है। बड़े पैमाने पर हुई कार्रवाई से शिक्षकों में हड़कंप मचा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here