महिला दिवस पर क्या कर सकते है हम महिलाओ के लिए |

0
427
8 मार्च को दुनिया में महिला दिवस के रूप में बनाया जाता है, उस दिन महिलाओ के शिक्षा, सुरक्षा, खानपान आदि पर विशेष ध्यान दिया जाता है | लेकिन हमारे देश में ये सब कागज़ी कार्यवाही के रूप में ही सिकुड़ कर रह जाता है |
हालाकि हमारे देश की महिलाएं निर्भीक, निडर  व सशक्त  है ! आज हम यह देखते है हमारे देश की महिलाएं सैनिक अर्द्ध सैनिक और रेलवे पुलिस फ़ोर्स केंद्रीय पुलिस व सभी राज्यो  की पुलिस व  होमगार्ड आदि में बढ़ चढ़कर कार्य कर रही है |यहाँ तक की लड़की विमानों की फाइटर विमान पायलट व सभी प्रकार के जहाजो की
सेवा में निरंतर प्रगति कर रही है |
चाहे खेलकूद हो चाहे कुस्ती आदि प्रीतियोगिता में भी बढ़चढ़ कर कार्य कुशलता का परिचय दिया हैऔर अग्रसर है !  आज महिला शक्ति करण के बारे में महिला किसी से कही पर भी  कम नही है, जहाँ तक कि विज्ञान मेडिकल व टेक्निकल सेवाओ का सवाल है हमारे भारतीय नारी किसी में भी पीछे नही है |
यह सब तो जब है जबकि सरकारी खाते में महिला शक्तिकरण केवल खाते तक ही सीमित रह जाते है |  हमारे देश की महिलाएं स्वयं खूब बढ़चढ़कर कार्य कर रही है  और पूर्ण रूप से रूचि ले रही है !  वेसे  जो हम दिखावा कागजों में,  सभी प्रकार के नारो में व  उद्घाटनों में करते है, वह वास्तविकता से किया जाये तो वो दिन भी दूर नही जहाँ भारतीय महिलाएं पूर्ण रूप से संपन्न होकर एक अच्छा प्रदर्शन  पेश कर सकती है, !  हमे अपनी माँ, बहन, और पत्नी को सर्वोच्य स्थान देकर नारी को सशक्त बनाने में भरसक कोशिश करनी चाहिए |
यहाँ पर हमें सावित्री बाई फुले को नमन करते हुए याद करना चाहिए क़ि आज जो कुछ महिला वर्ग को मिला है वह सब सावित्री बाई फुले की देंन है क्योंकि वे ही हमारी सबसे पहिली महिला शिक्षक थी और उन्होंने शिक्षा की बदौलत  महिलाओ में जाग्रति पैदा की जिस बजह से  आज महिला हर क्षेत्र में पूर्ण रूप से भागीदार है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here