भारत के लिए खतरे की घंटी अभी नहीं मिली नोकरिया तो खड़ी हो सकती है समस्या

0
181

मौजूदा समय में भारत दुनिया का दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। इसके साथ ही भारत बहुत जल्द दुनिया का सबसे युवा देश बन जाएगा लेकिन एक रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले 15 साल में भारत के लिए खतरे की घंटी बजने वाली है। इस दौरान देश के लिए सबसे बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है, जिसका मुख्य कारण बेरोजगारी है।

देश में नौकरियों की व्यवस्था कम होने के चलते अधिकतर लोग बेरोजगार हैं। इस लिहाज से देखा जाए तो आने वाले 15 वर्षों के दौरान भारत के युवाओं के लिए तेजी से नौकरियों के अवसर पैदा करने होंगे क्योंकि ये युवा अधेड़ अवस्था में पहुंच चुके होंगे। यानी कि भारत की युवा आबादी 15 वर्षों के दौरान बूढ़ी हो चुकी होगी।

पी.डब्ल्यू.सी. (प्राइस वाटरहाऊस कूपर) की तरफ से जारी इस रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि तेजी से नौकरियों के अवसर पैदा नहीं होते हैं तो आगे चलकर इससे भारत के लिए संकट की स्थिति पैदा हो सकती है।

डाटा के अनुसार भारतीय आबादी की मौजूदा उम्र 27.6 वर्ष है। कुल आबादी के आधे से भी अधिक लोग 25 वर्ष से कम आयु के हैं। पी.डब्ल्यू.सी. ने कहा कि साल 2034 के बाद भारतीय आबादी की औसत उम्र बढ़ती जाएगी।

इसका एक ही हल है और वह यह कि नौकरीपेशा उम्र के लोगों के लिए सही समय पर नौकरियों के अवसर पैदा करना। एक आंकड़े के मुताबिक वर्ष 2027 तक भारत में 10 करोड़ नई नौकरियों की जरूरत है। इसमें 80 प्रतिशत नौकरियां केवल 10 राज्यों की आबादी को ही चाहिएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here