बसपा से गठजोड़ के पक्ष में कमलनाथ

0
213

मध्यप्रदेश में भाजपा के किले को ढहाने के लिए कांग्रेस बसपा का साथ मिलने की उम्मीद कर रही है वंही भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर अपने पुराने पहलवान शिवराज चौहान पर ही भरोसा करते हुए

चुनावी मैदान में ताल ठोकने जा रही है यंहा बता दे की मध्यप्रदेश में बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन को लेकर मध्यप्रदेश कांग्रेस के मुखिया कमलनाथ बेहद आशाविंत ही नहीं दिखाई दे रहे है

बल्कि हाईकमान से भी उन्होंने बसपा से गठबंधन को लेकर पैरवी की है इसकी वजह 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव में बसपा को मिले वोट प्रतिशत को माना जा रहा है

दरअसल बसपा और कांग्रेस के वोट प्रतिशत को माना जा रहा है दरअसल बसपा और कांग्रेस के वोट प्रतिशत को जोड़ दिया जाए तो कांग्रेस भाजपा पर भारी पड़ती है दिखाई दे रही है

वंही दूसरी तरफ 15 साल की एंटी इंकबेंसी का फैक्टर भी भाजपा के लिए मुश्किलें बड़ा रहा है ऐसे में कांग्रेस बसपा के गठबंधन से भाजपा के लिए मुश्किलें बढ़ाएगा यंहा बताते चले की मप्र में कांग्रेस भाजपा को सत्ता से बाहर करने के लिए हर संभव कोशिश में जुट गई है

हाल के चुनावो में गठबंधन के उम्मीदवार को जिस तरह से जीत मिली है उसे देखते हुए वह सभी राज्यों में गठबंधन बनाना चाहती है

इसकी शुरुआत उसने मप्र से कर दी है यही नहीं भाजपा को पटखनी देने के लिए कांग्रेस राजय में सपा को भी अपने साथ जोड़ने की कोशिश में जुटी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here