परिवार से बड़ी कोई धन दौलत नहीं – Parivar Se Badi Koi Dhan Daulat nahi

0
1397

       परिवार” से बड़ा कोई

            “धन” नहीं!

         “पिता” से बड़ा कोई

            “सलाहकार” नहीं!

            “माँ” की छाव से बड़ी

             कोई “दुनिया” नहीं!

            “भाई” से अच्छा कोई

            “भागीदार” नहीं!

            “बहन” से बड़ा कोई

            “शुभचिंतक” नहीं!

            “पत्नी” से बड़ा कोई

            “दोस्त” नहीं

                इसलिए

            “परिवार” के बिना

            “जीवन” नहीं!!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here