नकलमुक्त शिक्षा के लिए उत्तर प्रदेश में कड़े प्रावधान- Nakalmukt Shiksha Ke Lie Uttar Prdesh…

0
318

उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने यहां कहा कि सरकार ने प्रदेश में नकलमुक्त शिक्षा के लिए इस बार ऐसे कड़े प्रावधान किए हैं कि अब नकल माफिया को पहले के समान अपना व्यवसाय करने की खुली छूट नहीं मिल पाएगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शिक्षा के मामले में आमूल-चूल परिवर्तन करने जा रही है जो एक वर्ष में दिखने लगेंगे। वे यहां 91 वर्ष पुराने चम्पा अग्रवाल इण्टर कालेज में एक एलुमिनाई सम्मेलन-2018 को संबोधित कर रहे थे। शर्मा ने कहा, ‘‘अब नकल नहीं चलेगा। हम बड़े सुधार करने जा रहे हैं। जैसे कि सत्रारम्भ से पूर्व ही तय कर दिया गया था कि वार्षिक, अर्धवार्षिक परीक्षा कब से कब तक होगी। इसी प्रकार ढाई माह तक होने वाली परीक्षाओं का कार्यक्रम एक माह का कर दिया। अगले वर्ष मात्र 15 दिन में परीक्षाएं समाप्त हो जाएंगी।’

उन्होंने बताया, ‘‘इस व्यवस्था से सीधा फायदा उन छात्रों को होगा जो हाईस्कूल या इण्टरमीडिएट के बाद कालेजों में नामांकन लेना चाहते हैं लेकिन समय पर परिणाम न आ पाने से अच्छे कालेजों में प्रवेश पाने से वंचित रह जाते हैं अथवा नौकरियों के लिए आवेदन नहीं कर पाते।’ उन्होंने बताया, ‘एक वर्ष में राज्य के प्रत्येक अनुदानित विद्यालय एवं 20 हजार राजकीय विद्यालयों में रोजगारपरक पाठ्यक्रम, इण्टरनेट के लिए वाई-फाई, आधुनिक प्रयोगशाला, पुस्तकालय, खेल आदि की सुविधाएं प्रारंभ कर दी जाएंगी।’‌

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here