दलित बेटी सुबह जूतियां बनाईं, दोपहर को एग्जाम दिया और 97% ले आई अंजेश कुमारी

0
517

कहते हे पढाई में कोई जात पात नहीं होती वही कर दिखाया झुंझुनूं। : की एक बालिका ने  दलित प्रतिभाएं लगातार मेरिट को मात दे रही हैं। कल्पित वीरवाल, टीना डाबी, भूषण अहीरे कुछ ऐसे ही नाम हैं जिन्होंने उस अवधारणा को बुरी तरह तोड़ दिया जिसमें मेरिट को सर्वोपरि बताया जाता है। अब ऐसा ही काम किया है दलित बेटी अंजेश कुमारी रसगनिया ने। पौंख की अंजेश कुमारी रसगनिया को सोमवार को घोषित 12वीं साइंस के रिजल्ट में 97.60 प्रतिशत मार्क्स मिले हैं।
अंजेश ने 97.60 प्रतिशत मार्क्स लाने के लिए कितना स्ट्रगल किया है उसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि वे परीक्षा के दिन भी अपने पिता की हेल्प करती थीं। अंजेश के पिता जूती बनाने का काम करते हैं। अंजेश भी बगैर किसी संकोच के अपने पिता के काम में हाथ बंटाती थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here