खाली खातों से बैंक मालामाल – Khali Khato Se Bank MalaMal

0
246

अपने बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न रखने वाले लोगों से साल 2017-2018 में बैंकों ने करीब 5,000 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला है।

वे लोग जो अपने खातों में मिनिमम बैलेंस नहीं रख पाते हैं उनके लिए जन-धन योजना के तहत करीब 30.8 करोड़ बेसिक सेविंग्स अकाउंट खोलने के बावजूद भी बैंकों द्वारा वसूले गए जुर्माने की राशि काफी अधिक है।

भारतीय स्टेट बैंक ने मिनिमम बैलैंस न रखने पर अपने उपभोक्ताओं से सबसे अधिक करीब 2,434 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला है।

करीब 30 प्रतिशत जुर्माना भारत के 3 बड़े प्राइवेट बैंक ऐक्सिस, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई ने वसूला है।

वित्त वर्ष 2018 में जुर्माना दोगुना होने की एक वजह भारतीय स्टेट बैंक भी है। इस साल एसबीआई ने जो लोग अपने खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं रखते हैं उनसे दोबारा जुर्माना वसूलना शुरू किया था।

अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न रखने पर वित्त वर्ष 2017-18 में एसबीआई ने कुल 2434 करोड़ रुपए वसूले हैं. जो सभी बैंकों द्वारा वसूल गए चार्ज का 50 फीसदी है.

बैंकिंग डाटा में शामिल सभी 24 बैकों ने इस मद में 4990 करोड़ रुपए वसूले हैं. एसबीआई के बाद एचडीएफसी बैंक ने 590.84 करोड़ रुपए, एक्सिस बैंक ने 530.12 करोड़ रुपए और आईसीआईसीआई बैंक ने 317.60 करोड़ रुपए वसूले हैं.

करीब 30 प्रतिशत जुर्माना भारत के 3 बड़े प्राइवेट बैंक ऐक्सिस, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई ने वसूला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here