खत्म हुआ निर्भया का इंतजार

0
628

निर्भया दुष्कर्म कांड में आज सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों के फैसले को बरकरार रखा है करीब साढ़े चार साल बाद निर्भया को न्याय मिला है. इस न्याय का सुख भोगने के लिए निर्भया आज हमारे साथ नहीं हैं. लेकिन सुप्रीम कोर्ट की तरफ से मौत की सजा बरकरार रखने से ऐसे अपराध करने वालों को एक सबक जरूर मिलेगा.
निर्भया दुष्कर्म कांड की पूरी देश में कड़ी निंदा हुई थी और किसी लड़की के साथ हुई एेसी हैवानियत की घटना से पूरे देश के लोगों का खून खौल उठा था। निर्भया के माता-पिता के कलेजे को आज ठंडक मिली होगी कि उसकी बेटी के साथ इस देश के न्यायालय ने अपनी पारदर्शिता को साबित किया है और आरोपियों को अब फांसी की सजा से कोई नहीं बचा सकता।
उसकी मौत की खबर सुनकर सोशल मीडिया, अखबार और टीवी चैनल्स से यह खबर देश सहित विदेशों में भी गूंजता रहा। उसकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थनाएं हुईं। उसके आरोपितों को सजा दिलाने के लिए लोगों ने पुलिस विभाग को हिलाकर रख दिया था।

सोशल मीडिया पर यह खबर बहुत दिनों तक छायी रही। आज का दिन जब देश की सबसे बड़ी अदालत ने यह फैसला दिया है तो आज सोशल मीडिया पर एक सुर में आवाज गूंज रही–भगवान के घर देर है अंधेर नहीं।

निर्भया की मां ने खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि मेरी बेटी को न्याय मिला है। आज मैं बहुत खुश हूं। वहीं निर्भया के पिता ने कहा कि देर लगी लेकिन आखिर न्याय मिला है मेरी बेटी को।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here