कांजी वड़ा – Kanji Wada (रेसिपी)

0
447

कांजी वड़ा – kanji wada (रेसिपी)

कांजी वड़ा बहुत ही स्वादिष्ट पेय में से एक है है, यह पेय पाचन क्रिया में भी अत्यंत सहायक है. त्यौहारों पर अलग -अलग मिठाइयां खा कर अगर आपको ऐसा महसूस हो रहा हो कि अब कुछ खाने का मन नहीं कर रहा और उस समय कांजी पीने के लिए मिल जाय तो कांजी का स्वाद तो अच्छा लगता ही है, थोड़ी ही देर बाद हमे कुछ और खाने की इच्छा भी होने लगती है. कांजी कभी भी बनाई जा सकती है, तो चलिए शुरू करे कांजी बड़ा बनाना |

आवश्यक सामग्री –

  • पानी – 2 लीटर
  • नमक- 2 चम्मच
  • सरसों का तेल- 2 चम्मच
  • हींग – थोड़ी सी
  • हल्दी पाउडर- 1 चम्मच
  • लाल मिर्च पाउडर – आधी छोटी चम्मच
  • पीली या काली सरसों – 2 छोटी चम्मच पिसी हुई
  • नमक – 2 चम्मच
  • बड़े के लिए
  • मूंग की दाल – आधा कप
  • नमक -स्वादानुसार
  • तेल- तलने के लिए

विधि –
कांजी बनाइए
किसी बड़े बर्तन में पानी डालकर गेस पर रखे और उबाल आने तक गरम कर लीजिए. फिर, पानी को ठंडा कीजिए.
एक कांच या प्लास्टिक का कन्टेनर ले लीजिए. इसे अच्छे से पानी से धोकर धूप में सुखा लीजिए. फिर, इस साफ और सूखे कन्टेनर में सारे मसाले- नमक, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, हींग, पीली सरसों और तेल डाल दीजिए. इन मसालों में उबालकर ठंडा किया हुआ पानी डालकर इसमें रख दीजिए.

कन्टेनर का ढक्कन अच्छे से बन्द करके 3 दिन तक के लिए रख दीजिए. रोजाना 1 बार सूखे और साफ बड़े चमचे से इसे चलाइये . तीसरे दिन कांजी को चखिए, कांजी हल्की हल्की खट्टी हो जाएगी, हल्की खट्टी कांजी अगर आप पीना चाहें तो पी सकते हैं. चौथे दिन आप पानी को टेस्ट करेंगे तो पानी का स्वाद एकदम अच्छा खट्टा और बड़ा ही स्वादिष्ट हो जाता है, यानी आपकी कांजी तैयार हो गई है.

बड़े बनाने के लिए :-
सबसे पहले मूंग की दाल को अच्छे से पानी से धोकर साफ कर लीजिये फिर इसे मिक्सी में डालकर हल्का दरदरा पीस लीजिए. पिसी हुई दाल में नमक डालकर अच्छे से मिलाए
अब कढ़ाही में तेल डालकर गरम कीजिए गरम तेल में वड़े डालिये और बड़े ब्रॉउन होने तक तल लीजिये
अब तले हुए वड़ों को प्लेट में निकाल लीजिए. अब थोड़ी देर के लिए इन्हें गरम पाने में भीगा दीजिये |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here