एंबुलेंस के लिए ट्रैफिक अफसर ने रोका राष्ट्रपति का काफिला

0
377

बेंगलुरु. कर्नाटक  घटना शनिवार को बेंगलुरु के ट्रिनिटी सर्किल पर हुई। दरअसल, राष्ट्रपति का काफिला यहां से गुजरने वाला था। वीआईपी मूवमेंट के चलते सभी तरफ से ट्रैफिक रोकने का ऑर्डर था। लेकिन इस दौरान वहां तैनात एसआई निजलिंगप्पा ने देखा कि एक एम्बुलेंस गाड़ियों के बीच फंसी हुई है। इसके बाद एसआई ने सूझबूझ से कुछ ऐसा फैसला लिया, के एक ट्रैफिक पुलिस अफसर ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का काफिला रोक दिया। मेट्रो का इनॉगरेशन करने गए थे प्रणब…

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, निजलिंगप्पा को लगा कि भले ही वीआईपी मूवमेंट है, लेकिन एम्बुलेंस को रास्ता दिया जाना चाहिए। उन्होंने आगे आकर दूसरी तरफ से आ रहे प्रेसिडेंट के काफिले को रोक दिया और मरीज को ले जा रही एम्बुलेंस को रास्ता दिया।

लोगों के साथ उनके ही डिपार्टमेंट के अफसर भी जिसकी तारीफ करते नहीं थक रहे हैं। अब बेंगलुरु पुलिस उन्हें सम्मानित करेगी।

@rock33_34ने कहा- मुझे भरोसा है कि हमारे सीएम (सिद्धारमैया) यह सब जानकर बेहद दुखी होंगे… लेकिन बहुत बढ़िया और सही काम किया है।
@Ramnath_Kamatने लिखा- अच्छी कोशिश। लेकिन क्यों नहीं नेताओं के लिए भी एक जैसे इंतजाम होने चाहिए। ट्रैफिक जाम में फंसेंगे, तभी उन्हें आम आदमी के दर्द का अहसास होगा। एसआई ने दूसरों के लिए मिशाल पेश की… सैल्यूट।
@krishvaidyaने कहा- एसआई का ये काम दूसरों के लिए अच्छा उदाहरण हो सकता है। अगर राष्ट्रपति का काफिला रोका जा सकता है तो मुख्यमंत्रियों और नेताओं को भी एम्बुलेंस को रास्ता देना चाहिए।
@RejithVengalam-बहुत बढ़िया। एक जिंदगी सबसे कीमती होती है। निजलिंगप्पा को उनकी मानवता के लिए सैल्यूट। सम्मान के लिए बधाई।
@cvrchandraने कहा- निजलिंगप्पा के इस फैसले के लिए उन्हें सैल्यूट। आगे भी ड्यूटी पर ऐसे प्रोफेशनल फैसले लेते रहें। आपको बहुत बधाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here