आसाराम को हुई उम्र कैद की सजा अब मौत तक रहना होगा जेल में – Asaram ko hui Umra ked ki Saja Ab Maut tak Rehana hoga Jail me

0
240

 

आसाराम की हक़ीक़त अब आई सामने देखा सभी लोगो ने उनका सच अदालत ने अपने फैसले में कहा कि आसाराम को अपनी पूरी ज़िंदगी जेल में काटनी होगीआसाराम को अपनी शिष्य से रेप के मामले में उम्र कैद की सजा सुनाई है.

अदालत ने अपने फैसले में कहा कि आसाराम को अपनी पूरी ज़िंदगी जेल में काटनी होगी. हालांकि, आसाराम के वकील ने अदालत से कम से कम सजा देने की अपील की थी

जज मधुसूदन शर्मा सख्त रवैया अपनाया और अपने फैसले में आसाराम को दोषी करार दिया. उसके बाद सजा पर बहुस शुरू हुई.

इस दौरान आसाराम के वकील ने अपने मुवक्किल के लिए कम से कम सजा की अपील की, उनकी बढती उम्र का हवाला दिया, लेकिन अदालत ने उनके साथ किभी भी तरह से रहम नहीं किया.

धारा 342- एक साल की सजा , 376 (4)- एक लाख का जुर्माना , 376 (D)- मौत तक उम्रकैद की सजा , 506-पांच साल की सजा

आरोप लगने के पांच साल बाद जोधपुर की अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376, यौन अपराध बाल संरक्षण अधिनियम और किशोर न्याय अधिनियम के तहत दोषी ठहराया गया.

न्यायाधीश मधुसूदन ने नाबालिग से रेप मामले में जोधपुर केंद्रीय कारागर के अंदर अपना फैसला सुनाया. आसाराम इसी जेल में बंद हैं.

चार साल से जेल में बंद आसाराम पर उत्तर प्रदेश की शाहजहांपुर की रहने वाली एक नाबालिग ने रेप का आरोप लगाया था.

नाबालिग की शिकायत के मुताबिक, वह आसाराम के छिंदवाड़ा (मध्य प्रदेश) स्थित आश्रम में पढ़ती थी. जहां से आसाराम ने उन्हें जोधपुर के नजदीक मनानी बुलाया और उनके साथ 15 अगस्त 2013 को रेप किया.

6 नवंबर 2013 को पुलिस ने आसाराम और उनके चार सहयोगियों शिवा, शिल्पा, शरद और प्रकाश के खिलाफ चार्जशीट (आरोपपत्र) दाखिल किया था. आसाराम के खिलाफ पॉस्को एक्ट, जुवेनाइल जस्टिस एक्ट और आईपीसी की कई अन्य धाराओं के तहत मामले दर्ज किये गये थे.

आसाराम मामले में अंतिम सुनवाई एससी/एसटी मामलों की विशेष अदालत में सात अप्रैल को पूरी हो गई थी और फैसला 25 अप्रैल तक के लिए सुरक्षित रखा गया था. आसाराम को इंदौर से गिरफ्तार कर एक सितंबर 2013 को जोधपुर लाया गया था और दो सितंबर 2013 से वह न्यायिक हिरासत में है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here